Different Network Band Used in India on GSM,HSPA and LTE

क्या आपके मन में Band 5, Band 40,Network Band या Spectrum के बारे में सवाल उठा है ?? आज हम इसी विषय पर बात करेंगे |

कभी आप मोबाइल की स्पेसिफिकेशन देखेंगे तो उसका सपोर्टेड Network Band या Frequency भी दिया रहता है जैसा की आप निचे देख सकते है |

network-band-supported-by-lenovo-k9
Network Band Supported By Lenovo K9

यदि आप भारत में ही फ़ोन खरीद रहे है तब आपको परेशान होने की जरुरत नहीं है परन्तु आप बाहर जैसे चीन,USA से फ़ोन खरीदते है तब आपको Network Band जरुर देखना चाहिए जिससे वो फ़ोन भारत के सिमकार्ड पे भी काम कर सके |

तो चलिए एक-एक Term को अच्छे से समझते है :

Spectrum

Spectrum ख़ास Radio Frequency का Range होता है जिसमे मोबाइल डाटा को Send और Recieve किया जाता है |

भारत में TRAI (Telecom Regulatory Authority of India) Spectrum की नीलामी करता है और कंपनी जैसे Airtel,JIO,Vodafone इत्यादि ये Spectrum खरीदती है |

LTE 

Long Term Evolution (LTE) बोलचाल में कम है परन्तु इसका इस्तेमाल 4G के साथ किया जाता है जो उच्च गति की नेटवर्क उपलब्ध  करता है |

GSM 

Global System for Mobile Communication (GSM) 2G के लिए मानक है जो टेलीफोन कम्युनिकेशन का दुसरा पीढ़ी का तकनीक है जिसमे Internet और Text मेसेज की सुविधा है |

HSPA 

High Speed Packet Access (HSPA) टेलीफोन कम्युनिकेशन का तीसरा पीढ़ी का तकनीक है जो HSDPA (High speed downlink packet access) और HSUPA(High speed uplink packet access) से बना है जो 2G से कई गुना तेज है जिसमे Video Call का भी फीचर दिया गया था |

Carrier Aggregation

यह LTE-Advanced (LTE-A) का प्रमुख अंग है, इसमें विभिन्न 4G Band का उपयोग करके नेटवर्क को तेज बनाया जाता है |

Carrier Aggregation करने के लिए अलग-अलग तरीका है जैसे FDD और TDD

FDD

Frequency Division Duplexing (FDD) को FD भी कहा जाता है, Carrier Aggregation करने के लिए FDD का इस्तेमाल होता है जिसमे अलग-अलग Frequency वाले Band को मिलाकर डाटा भेजा जाता है |

जैसे Jio कई जगहों पर 850 MHz और 1800 MHz Band को मिलाकर 4G डाटा भेजता है, ऐसा इसलिए किया जाता है क्योंकी जितना कम Frequency होगा उतना ही network coverage बेहतर होगा और जितना ज्यादा Frequency होगा उतना ज्यादा network speed होगा |

बेहतर speed: 2300Mhz > 1800Mhz > 850Mhz
बेहतर coverage: 850Mhz > 1800Mhz > 2300 Mhz

TDD

Time Division Duplexing (TDD) को TD भी कहा जाता है इसमें FDD के तरह अलग Band के बजाय एक ही Frequency वाले Band पर अलग समय निर्धारित किया जाता है और इससे भी नेटवर्क काफी तेज होता है |

Category X Device

अच्छे नेटवर्क स्पीड के लिए Network और आपका Device (जैसे Mobile,Laptop) दोनों बेहतर होना चाहिए |

इसके लिए आप अपने Device का Category चेक कर सकते है जैसे Category 6 या Category 9, इसे संक्षेप में Cat 6 या Cat 9 भी बोला जाता है |

सैधांतिक तौर पर Cat 6 के डिवाइस अधिकतम  300 Mbit/s और Cat 9 450 Mbit/s तक स्पीड प्राप्त कर सकता है अर्थात जितना ज्यादा Category होगा उतना बेहतर नेटवर्क स्पीड मिलेगा |

उदाहरण के लिए Samsung Galaxy Note 5 Cat 9 डिवाइस है वही Samsung Galaxy Note 7 Cat 12 डिवाइस है यानि की Note 7 में बेहतर नेटवर्क स्पीड मिलेगा |

2G,3G,4G & 5G

ये सभी टेलीफोन कम्युनिकेशन के अलग-अलग Generation है जो टेलीफोन कम्युनिकेशन का अनुभव को बदल कर रख दिया है |

2G में Internet और  Text Message, 3G में Video Call और 4G में इन्टरनेट की स्पीड और भी बढाई गई इसके साथ VoLTE का भी उपयोग किया जा रहा है |

5G अभी तक मार्किट में उपलब्ध नही है और ये 4G से 1000 गुना तेज होगा, उम्मीद किया जा रहा है की अगले साल तक 5G उपलब्ध हो जायेगा |

Network Band

cell-band-chart

हर देश में अलग-अलग Network Band का इस्तेमाल होता है यदि आपको सभी देश के Band के बारे में जानना है तो Gearbest पर देखें |

भारत में GSM यानि 2G के लिए 900 MHz और GSM 1800 MHz Band का उपयोग होता है 3G के लिए UMTS 900 और UMTS 2100 , 4G के लिए LTE 850 (Band 5)LTE 1800(Band 3) और LTE 2300 (Band 40)

Jio, Airtel जैसी कंपनी तीनो Band (Band 5,Band 3, Band 40) का उपयोग करती है ऐसा इसलिए क्योंकी कम Frequency वाले Band बेहतर कवरेज देता है और ज्यादा Frequency वाले Band तेज नेटवर्क देता है |

Conclusion

भारत में 2300 MHz वाले Band पर 4G चल रहा है और ज्यादा Frequency होगा उतना ही ज्यादा तेज नेटवर्क होगा,अगर पुरे विश्व में इन्टरनेट की स्पीड के मामले में भारत की बात की जाये तो इसका स्थान 112 है |

आशा है की आने वाले समय में भारत में नेटवर्क और भी तेज होगा |

उम्मीद है की आपको Network Band के बारे में पता चला होगा और आपके पास कोई भी सवाल हो तो निचे कमेंट जरुर करे |

अपने दोस्तों के साथ इस पोस्ट को शेयर करे और हमारे Newsletter को भी Subscribe कर ले धन्यवाद !

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *